Menu Close

Fourth annual athletic meet begins

चौधरी बंसी लाल विश्वविद्यालय की चौथी वार्षिक एथलेटिक मीट का हुआ शुभारंभ

प्रदेश के खिलाड़ियों ने लहराया है विश्व पटल पर परचम: जयप्रकाश दलाल कृषि मंत्री

07 मार्च भिवानी,ग्रामीण क्षेत्रों में खेल प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है। प्रदेश के खिलाड़ियों ने विश्व पटल पर अपनी खेल प्रतिभा का परचम लहराया है ये विचार प्रदेश कृषि मंत्री जयप्रकाश दलाल ने आज चौधरी बंसीलाल विश्वविद्यालय की चौथी वार्षिक एथलेटिक मीट में बतौर मुख्यातिथि खिलाड़ियों को संबोधित करते हुए कहे।उन्होंने कहा कि भारत विश्व का सबसे युवा देश है और आने वाले समय मे भारत विश्व का सिरमौर बनेगा।उन्होंने कहा कि भिवानी के खिलाड़ियों ने देश प्रदेश का नाम विश्व में रोशन किया है।सरकार की खेल प्रोत्साहन नीति पूरे देश में सर्वश्रेष्ठ है।उन्होंने विश्वविद्यालय के राष्ट्रीय स्तर पर बेहतर प्रदर्शन पर समस्त विश्वविद्यालय परिवार को बधाई दी।उन्होंने कहा कि भिवानी में खिलाड़ियों के लिए बेहतर खेल सुविधाएं उपलब्ध हैं और भविष्य खेलों के प्रोत्साहन के लिए जिन सुविधाओं की आवश्यकता होगी उन्हें प्रदेश सरकार मुहैया करवायेगी ।विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.आर.के मित्तल ने संबोधित करते हुए कहा कि चौधरी बंसीलाल विश्वविद्यालय ने अपने गठन के मात्र पांच वर्ष में शिक्षा एवं खेलों के क्षेत्र में राष्ट्रीय स्तर पर नये आयाम स्थापित किये हैं। आने वाले समय में खेलों में बेहतर प्रदर्शन के दम पर देश में अपनी अलग ही पहचान बनायेगा। उन्होंने कहा कि सरकार की खेल प्रोत्साहन नीति के कारण आज ग्रामीण क्षेत्रों से खेल की बड़ी प्रतिभायें उभरकर आई हैं जिन्होंने विश्वके पटल पर देश का नाम रोशन किया है।खेलों के कारण युवाओं को रोजगार मिले हैं और उनका स्वास्थ्य स्तर बेहतर हुआ है। उन्होनें कहा कि अभी हाल ही में खेलो इंडिया विश्वविद्यालय खेलों में विश्वविद्यालय ने चार गोल्ड मैडल व दो कांस्य पदक जीतकर राष्ट्रीय स्तर पर 18 वाँ स्थान प्राप्त किया जोकि विश्वविद्यालय की बड़ी उपलब्धि है।उन्होंने कहा कि पांचवी एथलेटिक मीट हम विश्वविद्यालय प्रेमनगर स्थित स्वयं के परिसर में आयोजित करेंगे। राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी तैयार करना विश्वविद्यालय की प्राथमिकता है। क्रीड़ा भारती के उत्तरी क्षेत्रीय संयोजक उमेश कुमार ने बतौर विशिष्ट अतिथि संबोधित करते हुए कहा कि क्रीड़ा भारती पूरे भारत में खिलाडियों को विशेष प्रोत्साहन के लिए क्रीड़ाओं को बढ़ावा दे रही है। क्रीड़ा भारती का उदेश्य ग्रामीण क्षेत्रों में खेल प्रतिभाओं को उभारना है। उन्होंने विश्वविद्यालय के खिलाड़ियों के बेहतर प्रदर्शन को सराहते हुए कहा कि भिवानी खेलों का हब है और भविष्य में खेल प्रतिभाओं को उभारने में विश्वविद्यालय का महत्वपूर्ण योगदान रहेगा।
विश्वविद्यालय के खेल परिषद के सचिव एवं डीन विद्यार्थी कल्याण डॉ.सुरेश मलिक ने सभी मुख्यातिथियों का स्वागत एवं धन्यवाद किया।उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.आर.के मित्तल के कुशल नेतृत्व एवं कुलसचिव डॉ.जितेन्द्र भारद्वाज के कुशल मार्गदर्शन में खेलों को विशेष प्रोत्साहन के परिणाम स्वरूप खिलाड़ी राष्ट्रीय स्तर पर अपनी प्रतिभा का बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं। मंच का संचालन डॉ.गीता ने किया।इस अवसर पर विश्वविद्यालय खेल परिषद् के अध्यक्ष सुरेश अत्री, खेल सलाहकार दर्शन मिढा, डॉ.मितेश भारद्वाज, डॉ.आशा पूनियां, सुनील भारद्वाज, सहित विभिन्न कॉलेजों के सैंकड़ों खिलाड़ी उपस्थित थे।
ये रहे आज के परिणाम: -पुरुष वर्ग दो सौ मीटर दौड़ में महाराजा नीमपाल सिंह राजकीय महाविद्यालय के संजीव ने प्रथम, बीएलजेएस कॉलेज तोशाम के रवि ने द्वितीय, सीबीएलयू के नुपेश ने तृतीय स्थान प्राप्त किया।दो सौ मीटर दौड़ महिला वर्ग में महिला महाविद्यालय झोझू कलां की पूजा ने प्रथम, राजकीय महिला महाविद्यालय बुवानी खेड़ा की मंजु ने द्वितीय,बंसी लाल महिला महाविद्यालय तोशाम की मोनिका ने तृतीय स्थान हासिल किया।आठ सौ मीटर पुरूष दौड़ में बीएलजेएस कॉलेज तोशाम के विरेन्द्र ने प्रथम वैश्य कॉलेज के संजय ने द्वितीय, वैश्य कॉलेज के रोहित ने तृतीय स्थान हासिल किया। आठ सौ मीटर महिला वर्ग दौड़ में चौधरी बंसी लाल कॉलेज लोहारू की प्रोमिला ने प्रथम, राजकीय महाविद्यालय सिवानी की रविना ने द्वितीय, महिला महाविद्यालय झोझू कलां की ज्योति ने तृतीय स्थान पर जीत दर्ज की। डिस्कस थ्रो महिला वर्ग में एमएनएस कॉलेज की सीमा ने प्रथम, इसी कॉलेज की योगिता ने द्वितीय, एमएम कॉलेज झोझू कलां की प्रियंका ने तृतीय स्थान हासिल किया। डिस्कस थ्रो पुरूष वर्ग में एमएनएस कॉलेज के सौरभ ने प्रथम, इसी कॉलेज के सत्यवान ने द्वितीय, वैश्य कॉलेज के संजय ने तृतीय स्थान प्राप्त किया।