Menu Close

चौधरी बंसी लाल विश्वविद्यालय के प्रेमनगर स्थित नये परिसर में मनाया गया गणतंत्र दिवस

हमें अपनी क्षमताओं को विकसित करने की जरूरत: प्रो.आरके मित्तल
भिवानी 26 जनवरी, चौधरी बंसी लाल विश्वविद्यालय के प्रेम नगर स्थित नए भवन परिसर में गणतंत्र दिवस मनाया गया जिसमें बतौर मुख्यातिथि विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.राजकुमार मित्तल, विशिष्ट अतिथि विवेकानंद केंद्र कन्याकुमारी की जीवनवृत्त कार्यकर्ता सुश्री अलका गोरी जोशी, अखिल भारतीय महामंत्री विवेकानंद केंद्र भानु दास,कुलसचिव डॉ.जितेन्द्र भारद्वाज ने किया ध्वजारोहण किया। कार्यक्रम का शुभारंभ विद्यार्थियों द्वारा मां सरस्वती वंदना से किया गया। ध्वजारोहण के उपरांत विश्वविद्यालय के सुरक्षा कर्मियों द्वारा सलामी दी गई। इस अवसर पर बतौर मुख्यातिथि संबोधित करते हुए कुलपति प्रो.आरके मित्तल ने कहा कि कोरोना काल के दौरान भारत ने पूरे विश्व को नई राह दिखाई। इस वैश्विक संकट के दौर में जहां विश्व के बड़े विकसित देश विचलित हुए वहीं हमारे देश ने चुनौतियों को अवसर में बदलने का काम किया। कोरोना काल के दौरान संपूर्ण विश्व में भारतीय संस्कृति और भारतीय पद्धति का अनुसरण किया गया । हमारे देश ने वेंटिलेटर, मास्क,पीपीटी किट, सेनेटाइजर का उत्पादन किया और अन्य देशों की मदद की। उन्होंने कहा कि अब हमने कोरोना की वैक्सीन भी बना ली है और देश में टीकाकरण जोरों शोरों पर चल रहा है।भारत ने पूरे विश्व को यह दिखा दिया है कि भारत पुनः विश्व का नेतृत्व करने में सक्षम है। उन्होंने कहा कि हमें हर क्षेत्र में अपनी उत्पादन क्षमताओं को विकसित करने की जरूरत है।
विवेकानंद केंद्र के अखिल भारतीय महामंत्री भानुदास ने संबोधित करते हुए कहा गणतंत्र दिवस हमारे संविधान ने हमें मौलिक अधिकार दिये हैं।भारत विश्व का सबसे बड़ा लोकतंत्र है। स्वामी विवेकानंद ने सारे विश्व में भारतीय संस्कृति एवं सनातन धर्म की अलख जगाई। विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ जितेंद्र कुमार भारद्वाज ने संबोधित करते हुए कहा कि विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.आरके मित्तल के कुशल नेतृत्व में विश्वविद्यालय ने अपने गठन से लेकर अब तक शिक्षा क्षेत्र में नए आयाम स्थापित किए हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में भी विश्वविद्यालय द्वारा नकल रहित परीक्षाओं का सफल संचालन, परीक्षा परिणामों को समय पर घोषित करना और दाखिला प्रक्रिया को पूर्ण करने के साथ ही 125 विस्तृत व्याख्यानमाला, श्रंखला का ऑनलाइन संचालन विश्वविद्यालय की बड़ी उपलब्धियां हैं।उन्होंने कहा कि भविष्य में भी यह विश्वविद्यालय कुलपति प्रो.आर.के मित्तल की अगुवाई में शिक्षा, खेल एवं अनुसंधान के क्षेत्र में नये आयाम स्थापित करेगा। विश्वविद्यालय के डीन विद्यार्थी कल्याण डॉ.सुरेश मलिक ने सभी मुख्यातिथियों का विश्वविद्यालय परिवार की ओर से स्वागत एवं अभिनंदन किया और गणतंत्र दिवस की बधाई दी। कार्यक्रम में युवा कल्याण विभाग के विद्यार्थियों द्वारा समूह गान व हरियाणवी लोक गीतों पर रंगारंग प्रस्तुति दी गई। छोटी बच्ची आध्या ने देशभक्ति कविता की प्रस्तुति दी। वीएम बेचैन की हरियाणवी पुस्तक जै..का विमोचन किया गया। कार्यक्रम में डीन प्रो.दिनेश मदान ने सभी मुख्यातिथियों का धन्यवाद एवं आभार प्रकट किया। मंच संचालन अगिन दलाल ने किया। इस अवसर पर विवेकानंद केंद्र कन्याकुमारी कि जीवन वृत कार्यकर्ता सुश्री अलका गोरी जोशी,डीन प्रो.राधेश्याम,प्रो.संजीव कुमार,प्रो.ललिता गुप्ता, डीन डॉ.एस.के कौशिक,डीन सुनीता भरतवाल, प्रो.बाबूराम, डॉ.कुलदीप कुमार, डॉ.पवन कुमार, डॉ ऋषि पाल, डॉ रवि प्रकाश, डॉ स्नेह लता शर्मा, अभियांत्रिकी सलाहकार केके शर्मा सहित विश्वविद्यालय के अनेक शैक्षणिक एवं गैर शैक्षणिक कर्मचारी और प्रेमनगर के गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।